Connect with us

बागेश्वर में संपूर्णता अभियान संगोष्ठी का शुभारंभ।

बागेश्वर

बागेश्वर में संपूर्णता अभियान संगोष्ठी का शुभारंभ।

बागेश्वर से नरेन्द्र सिंह बिष्ट का रिपोर्ट

बागेश्वर-विकासखंड कपकोट सभागार में आकांक्षी विकासखंड कार्यक्रम अंतर्गत संपूर्णता अभियान संगोष्ठी का शुभारंभ जिला पंचायत अध्यक्ष बसंती देव, विधायक सुरेश गड़िया, जिलाधिकारी अनुराधा पाल, ब्लॉक प्रमुख गोविंद सिंह दानू द्वारा संयुक्त रुप से दीप प्रज्वलित कर किया गया। 
बता दे कि आकांक्षी ब्लॉक के तहत संपूर्णता अभियान कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य नीति आयोग द्वारा निर्धारित पहली त्रैमासिक अवधि के दौरान प्रसव पूर्व देखभाल (एएनसी) के लिए पंजीकृत गर्भवती महिलाओं का प्रतिशत, ब्लॉक में लक्षित जनसंख्या के मुकाबले मधुमेह की जांच कराने वाले व्यक्तियों का प्रतिशत, ब्लॉक में लक्षित जनसंख्या के मुकाबले उच्च रक्तचाप के लिए जांचे गए व्यक्तियों का प्रतिशत, आईसीडीएस कार्यक्रम के अंतर्गत नियमित रूप से पूरक पोषण लेने वाली गर्भवती महिलाओं का प्रतिशत, मृदा नमूना संग्रहण लक्ष्य के मुकाबले सृजित मृदा स्वास्थ्य कार्डों का प्रतिशत एवं ब्लॉक में कुल स्वयं सहायता समूहों के मुकाबले रिवाल्विंग फंड प्राप्त करने वाले स्वयं सहायता समूहों का प्रतिशत इन 6 इंडिकेटर पर शत-प्रतिशत सेचुरेशन करना है। 
बतौर मुख्य अतिथि जिला पंचायत अध्यक्ष बसंती देव ने कहा कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य तभी सफल होगा जब प्रशासन के साथ-साथ आम जन भी जुड़कर सामाजिक जन जागरण लाएगा। उन्होंने सभी से मिलकर इस अभियान को सफल बनाने की बात कही। इस मौके पर विधायक सुरेश गढिया ने कहा कि प्रधानमंत्री संपूर्णता अभियान के माध्यम से मानव जीवन को ऊपर उठाने का प्रयास कर रहे हैं। और इस प्रयास में विभागों के कार्मिक के साथ-साथ हम सभी को समन्वित प्रयास कर इसको सफल बनाना होगा। उन्होंने कहा कि संपूर्णता का अभिप्राय ही यह है कि अंतिम पायदान में बैठा व्यक्ति विकास की मुख्य धारा से जुड़ सकें। 
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने कहा कि आकांक्षी ब्लॉक कार्यक्रम अन्तर्गत 04 जुलाई से 30 सितम्बर  तक सम्पूर्णता अभियान का आयोजन किया जा रहा है।  सम्पूर्णता अभियान में कुल 06 सूचकांकों जिसमें स्वास्थ्य विभाग के 03 सूचकांक (गर्भावस्था की प्रथम तिमाही में ए0एन0सी0 जांच, उच्च रक्तचाप व शुुगर जांच), महिला सषक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग का एक सूचकांक (गर्भवती महिला को पूरक पोशाहार), कृषि विभाग का एक सूचकांक (मृदा स्वास्थ्य कार्ड) एवं ग्राम्य विकास विभाग का एक सूचकांक (एनआरएलएम से जुड़ी स्वयं सहायता समूहों के रिवॉल्विंग फंड दिया जाना) आदि शामिल है, का लक्ष्य शत प्रतिशत पूर्ण किए जाने के लिए सभी विभागों को युद्ध गति पर कार्य करना होगा। उन्होंने कार्यक्रम के मूल उद्देश्य को बताते हुए इसमें जुड़े विभागों के अधिकारी एवं कर्मचारियों को जिन मानको को पूरा करना है उस पर पूरा फोकस करते हुए फील्ड में कार्य करने की बात कही। उन्होंने कहा कि आकांक्षी ब्लॉक कार्यक्रम में ब्लॉक पंचायतों की बहुत बड़ी भूमिका है। जब हर ग्राम पंचायत काम तेजी से करेगी तो ही ब्लॉक का विकास तेजी से होगा।
मुख्य विकास अधिकारी आरसी तिवारी ने कहा कि कपकोट विकास खण्ड को भारत के कुल 500 आकांक्षी ब्लॉकों में प्रथम श्रेणी में लाने हेतु सभी विभागों को कार्य करने होगा। उन्होंने सम्पूर्णता अभियान में नीति आयोग द्वारा निर्धारित सभी सूचकांकों को पूर्ण करने हेतु कार्ययोजना के अनुसार कार्य करने पर बल दिया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए ब्लॉक प्रमुख कपकोट गोविन्द सिंह दानू ने सभी से सम्पूर्णता अभियान को सफल बनाने हेतु विभाग से मिलकर कार्य करने की अपील की। कार्यक्रम में राइका कपकोट की छात्राओं द्वारा नुक्कड़ नाटक के माध्यम से सभी बच्चों को टीकाकरण कराने का संदेश दिया। कार्यक्रम का संचालन सुरेन्द्र कुमार, ने किया।  
इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी आरसी तिवारी, परियोजना निदेशक शिल्पी पंत, जिला विकास अधिकारी विम्मी जोशी, ज्येष्ठ ब्लॉक प्रमुख हरीश मेहरा, कनिष्ठ प्रमुख रविन्द्र सिंह, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष विक्रम शाही, जिला पंचायत सदस्य हरीश ऐठानी, पूरन गाड़िया,  पूर्व ब्लॉक प्रमुख़ मनोहर राम, खंड विकास अधिकारी ख्याली राम, डॉ हरीश पोखरिया समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी, जनप्रतिनिधि, सीएचओ, आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्री मौजूद थे। 
Ad Ad

More in बागेश्वर

Trending News

About

प्रतिपक्ष संवाद उत्तराखंड तथा देश-विदेश की ताज़ा ख़बरों का एक डिजिटल माध्यम है। अपने क्षेत्र की ख़बरों को प्रसारित करने हेतु हमसे संपर्क करें  – [email protected]

Editor

Editor: Vinod Joshi
Mobile: +91 86306 17236
Email: [email protected]

You cannot copy content of this page