Connect with us

कैंची धाम आस्था का केंद्र या पर्यटन के लिए बढ़ रही है भीड़ । कैंची धाम की इतनी प्रसिद्धि क्यों ?

नैनीताल

कैंची धाम आस्था का केंद्र या पर्यटन के लिए बढ़ रही है भीड़ । कैंची धाम की इतनी प्रसिद्धि क्यों ?

कैंची धाम एक परिचय

नैनीताल – भारत में कई ऐसे पावन तीर्थ हैं, जहां पर श्रद्धा एवं भक्ति के साथ जाने मात्र से व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। ऐसा माना जाता है, ऐसा ही एक पावन तीर्थ देवभूमि उत्तराखंड के मानस खंड में है जो खुबसूरत वादियों में है, जिसे लोग “कैंची धाम” के नाम से दुनियां जानती हैं। “कैंची धाम” के नीब करौरी बाबा (नीम करौली) की ख्याति विश्वभर में है। बाबा के भक्तों का मानना है कि बाबा हनुमान जी के अवतार थे।

यहां पर मांगी गयी इच्छा पूर्ण फलदायी

नैनीताल से लगभग 10 किलोमीटर दूर कैंची धाम को लेकर मान्यता है कि यहां आने वाला व्यक्ति कभी भी खाली हाथ वापस नहीं लौटता। यहां पर मांगी गयी इच्छा पूर्ण फलदायी होती है। यही कारण है कि यहां देश-विदेश से हज़ारों लोग यहां हनुमान जी का आशीर्वाद लेने आते हैं।

15 जून को विशाल मेले व भंडारे का आयोजन

हर साल 15 जून को यहां पर एक विशाल मेले व भंडारे का आयोजन होता है। यहां इस दिन इस पावन धाम में स्थापना दिवस मनाया जाता है। बाबा नीब करौरी ने इस आश्रम की स्थापना 1964 में की थी। बाबा 1961 में पहली बार यहां आए और उन्होंने अपने पुराने मित्र पूर्णानंद जी के साथ मिल कर यहां आश्रम बनाने का विचार किया था।मान्यता है कि बाबा नीब करौरी को हनुमान जी की उपासना से अनेक चामत्कारिक सिद्धियां प्राप्त थीं। लोग उन्हें हनुमान जी का अवतार भी मानते हैं।

बाबा के माथे पर ना तिलक और ना ही गले में कोई माला

हालांकि वह ख़ुद आडंबरों से दूर रहते थे। न तो उनके माथे पर तिलक होता था और न ही गले में कोई माला । बड़ी बात तो यह है बाबा जी अपना पैर किसी को नहीं छूने देते थे। यदि कोई छूने की कोशिश करता तो वह उसे श्री हनुमान जी के पैर छूने को कहते थे। बाबा के भक्तों में एक आम आदमी से लेकर अरबपति-खरबपति तक शामिल हैं। बाबा के इस पावन धाम में होने वाले नित-नये चमत्कारों को सुनकर दुनिया के कोने-कोने से लोग यहां पर खिंचे चले आते हैं। बाबा के भक्त और जाने-माने लेखक रिचर्ड अल्बर्ट ने मिरेकल आफ लव नाम से बाबा पर पुस्तक लिखी है। इस पुस्तक में बाबा नीब करौरी के चमत्कारों का विस्तार से वर्णन है।

अनेक बड़ी हस्तियां आती हैं कैची धाम

इनके अलावा हॉलीवुड अभिनेत्री जूलिया राबर्ट्स, एप्पल के फाउंडर स्टीव जाब्स और फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग , विराट कोहली जैसी बड़ी विदेशी हस्तियां बाबा के भक्त हैं। बाबा नीब करौरी को कैंची धाम बहुत प्रिय था। अक्सर गर्मियों में वे यहीं आकर रहते थे। बाबा के भक्तों ने इस स्थान पर हनुमान का भव्य मन्दिर बनवाया। उस मन्दिर में हनुमान की मूर्ति के साथ-साथ अन्य देवताओं की मूर्तियाँ भी हैं। यहां बाबा नीब करौरी की भी एक भव्य मूर्ति स्थापित की गयी है। बाबा नीब करौरी महाराज के देश-दुनिया में 108 आश्रम हैं।

कुछ लोगों ने बनाया पर्यटन स्थल

लेकिन अब कुछ लोगों ने कैंची धाम को पर्यटन स्थल बना दिया है लोग घूमने के लिए नैनीताल आते हैं और मजे मजे में बिना ईश्वर प्रेम के मंदिर भी चले जाते हैं ।। ना ही उचित पार्किंग और ना ही चौड़ी सड़क होने के कारण यहां लंबा जाम लगता है जिससे पहाड़ को जाने और आने वाले यात्रियों को काफी परेशानी का सामना भी करना पड़ता है ।।

More in नैनीताल

Trending News

About

प्रतिपक्ष संवाद उत्तराखंड तथा देश-विदेश की ताज़ा ख़बरों का एक डिजिटल माध्यम है। अपने क्षेत्र की ख़बरों को प्रसारित करने हेतु हमसे संपर्क करें  – [email protected]

Editor

Editor: Vinod Joshi
Mobile: +91 86306 17236
Email: [email protected]

You cannot copy content of this page